आवास बिक्री की दर में 59 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई है। इस दौरान आवास बिक्री की संख्या 55,907 थी। पिछली तिमाही की तुलना में, मांग तीन गुना तक अधिक हो गई है। COVID महामारी की पहली और दूसरी लहर के प्रतिकूल प्रभाव के कारण पिछले साल जुलाई से सितंबर में आवास बिक्री 35,132 इकाई थी, जबकि इससे पिछली तिमाही में आवास बिक्री 15,968 इकाई थी।

विभिन्न संपत्ति सलाहकारों द्वारा प्रमुख प्राथमिक संपत्ति बाजारों की तिमाही आवास बिक्री पर यह चौथी रिपोर्ट है। अब तक जारी हुई सभी रिपोर्टों ने जुलाई-सितंबर 2021 के दौरान साल-दर-साल और क्रमिक आधार पर आवास बिक्री में वृद्धि दिखाई है।

रिपोर्ट पर टिप्पणी करते हुए, हाउसिंग डॉट कॉम, प्रॉपटाइगर डॉट कॉम और मकान डॉट कॉम के ग्रुप सीईओ ध्रुव अग्रवाल ने कहा कि होम लोन पर कम ब्याज दरों, आवास संपत्तियों का बढ़ता सामर्थ्य आवास बिक्री दर बढ़ने का प्रमुख कारण है। त्योहारी सीजन के दौरान इसमें और भी अधिक वृद्धि होने की उम्मीद की जा सकती है।

अहमदाबाद में आवास की बिक्री जुलाई से सितंबर 2021 में 64 फीसद तक बढ़कर 5,483 इकाई हो गई है। जो पिछले वर्ष की समान अवधि में 3,339 इकाई थी। वहीं बेंगलुरू में बिक्री 36 फीसद तक बढ़कर 4,825 इकाई से 6,547 इकाई तक हो गई है। चेन्नई में आवासीय संपत्तियों की बिक्री 2317 इकाइयों से दोगुनी होकर 4,665 इकाई हो गई है।

हालांकि, दिल्ली-एनसीआर में आवास की बिक्री में वृद्धि देखने को नहीं मिली। दिल्ली-एनसीआर एक साल पहले की अवधि में 4,427 इकाइयों की तुलना में 4,458 इकाइयों की बिक्री देखी गई। जबकि, हैदराबाद में, बिक्री 3,260 इकाइयों से दोगुनी से अधिक बढ़कर 7,812 इकाई हो गई। वहीं, कोलकाता में आवास की बिक्री 2,479 इकाइयों से 7 फीसद बढ़कर 2,651 इकाई हो गई।

इसके अलावा मुंबई में आवास बिक्री 7378 इकाइयों से 92 फीसद बढ़कर 14,163 इकाई हो गई। वहीं, पुणे में आवास की बिक्री जुलाई से सितंबर 2021 में 43 फीसद बढ़कर 10,128 इकाई हो गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 7,107 इकाई थी।