भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार की  पुण्य तिथि पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास पर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ट्वीट किया है कि राष्ट्र की सेवा और समाज की उन्नति को ही जीवन का ध्येय मानने वाले भारत के रत्न डॉ. हेडगेवार जी के सपनों के आधुनिक और समर्थ भारत के निर्माण के लिए हम सब प्रतिबद्ध हैं। देश के नवनिर्माण में किये गये उनके योगदान के लिए राष्ट्र सदैव ऋणी रहेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ट्वीट में डॉ. हेडगेवार के विचार उर्द्धत किये हैं' केवल भूमि के टुकड़े को राष्ट्र नहीं कहते हैं। एक विचार, आचार, सभ्यता व परम्परा में जो लोग पुरातन काल से रहते चले आये हैं, उन्हीं लोगों की संस्कृति से राष्ट्र बनता है।  

 डॉ. हेडगेवार बचपन से ही क्रांतिकारी प्रवृत्ति के थे, उन्हें अंग्रेज शासकों से घृणा थी। डॉ. हेडगेवार ने 1925 में विजयादशमी पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की स्थापना की। डॉ. हेगडेवार का मत था कि जाति-पाति और छूआछूत के भेद के कारण हम असंगठित व दुर्बल हुए। परिणामस्वरूप मुट्ठी भर लुटेरों के हाथों हमें हार खानी पड़ी। गुलामी का अभिशाप सहना पड़ा। राष्ट्र को सुदृढ़ बनाने के साथ समाज को संगठित, अनुशासित और शक्तिशाली बनाना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता थी।